WebSeoScout

Information Stream in Hindi

ulcer
Spread the love

अल्सर एक तरह का बीमारी है जिसका नाम आपने जरूर सुन रखे हैं ? इस आर्टिकल में जानेंगे अल्सर क्या है, अल्सर होता कैसे है, अल्सर से कैसे बचें, और अल्सर होने के बाद ट्रीटमेंट कैसे करें?

अल्सर क्या होता है What is ulcer?

अल्सर बीमारी क्या होता है – पेट के अंदर और छोटी आंत में होने वाले घाव को अलसर कहते हैं। ये खाव आम तौर पेट के अंदर बनने वाली अम्ल से होता है। और ज्यादातर केस में अलसर दवाई के सेवन से ठीक होता हैं किन्तु ये बीमारी एक बहुत ही गंभीर बीमारी है। इस बीमारी का अगर सठिक तरीके से इलाज नहीं किया गया तो कैंसर जैसी जटिल और गंभीर समस्या उत्पन्न होने की पूरी सम्भावना हैं। 

अल्सर होने के लक्षण Ulcer Sympotms

अल्सर का सबसे आम लक्षण आपके सीने और पेट के नाभि के बीच में हलके से तेज तक जलन होना। आमतौर पर, दर्द तब अधिक तीव्र होगा जब आपका पेट खाली होगा, और यह कुछ मिनटों से लेकर कई घंटों तक रह सकता है।

अल्सर होने के और भी लक्षण निम्न प्रकार हैं :

  1. पेट में सुस्त दर्द
  2. वजन घटना
  3. दर्द के कारण नहीं खाना चाहता
  4. उलटी अथवा मितली
  5. सूजन
  6. आसानी से भरा हुआ महसूस करना
  7. एसिड भाटा
  8. सीने में जलन है
  9. दर्द जब आप खाने, पीने या एंटासिड लेने में सुधार कर सकते हैं
  10. एनीमिया, जिसके लक्षणों में थकावट, सांस की तकलीफ, या पेलर त्वचा शामिल हो सकते हैं
  11. कला मल
  12. उलटी में खून या फिर खून के धब्बे या फिर कॉफ़ी जैसी रंग की उलटी

पेप्टिक अल्सर क्या है What is peptic ulcer?

पेप्टिक अल्सर खुले घाव हैं जो आपके पेट के अंदरूनी परत और आपकी छोटी आंत के ऊपरी हिस्से में विकसित होते हैं। पेप्टिक अल्सर का सबसे आम लक्षण पेट दर्द है।

Peptic Ulcer
Peptic Ulcer

पेप्टिक अल्सर दो प्रकार के होते हैं :

  1. पेट के अंदर होने वाले गैस्ट्रिक अल्सर
  2. Duodenal अल्सर जो आपकी छोटी आंत (ग्रहणी) के ऊपरी भाग के अंदर होता है

माउथ अल्सर क्या है What is mouth ulcer?

अल्सर इन माउथ – आंतरिक होंठ, मसूड़ों, जीभ, मुंह या गले की छत पर एक या एक से अधिक दर्दनाक घाव को माउथ अलसर कहा जाता है। माउथ अलसर खाना, पीना और बातें करने के दौरान तकलीफ पैदा कर सकते हैं। माउथ अलसर के शुरुआती लक्षण में हीं तुरंत अछि इलाज की आवस्यकता है अन्यथा कैंसर जैसी जटिल बीमारी को निमत्रण हो सकता है।

अल्सर होता क्यों हैं why do ulcer occur?

अलसर दो प्रकार के होते हैं – १. पेप्टिक अलसर २. माउथ अलसर और ये अलसर होने के कारण भी भिन्न भिन्न होते हैं।

पेप्टिक अलसर – पेट के अंदर होने वाले घाव को पेप्टिक अलसर कहते हैं।  पेट के अंदुरनी सतह एक विशेष प्रकार के कोशिकाओं से बना हुआ होता है। और ये सतह पेट में उत्पन्न होने वाले एसिड से लगातार बचाता रहता है। अगर पेट में अत्यधिक अम्ल उत्पन्न हुआ तो वो इस सतह को आंशिक रूप से नस्ट कर देता है जो बाद में घाव की सकल लेती है।

माउथ अलसर – खाना खाने के दौरान कभी कभी मुँह के अंदर अनजाने में चबा लेते हैं। और जो लोग तम्बाकू के आदि हैं वो लोग अक्सर ऐसी गलती बहुत करते हैं। जिसकी वजह से मुँह में घाव बनते हैं।

और ये भी सत्य है के अलसर वंशानुगत भी होते हैं। जैसे माता, पिता, दादाजी, दादी माँ, नाना जी, नानी माँ को अगर अलसर की इतिहास अगर रहा है तो भी अलसर होने के सम्भावना रहती हैं।

अल्सर के उपचार Ulcer Treatment

अल्सर कैसे ठीक होता है?

अल्सर का इलाज – अलसर को दवाई से नियत्रण में लाया जाता है।  मूल मकशद होता है पेट के अंदर उत्पन्न होने वाले अत्यधिक अम्ल को कम करना। पेप्टिक अल्सर के लिए उपचार कारण पर निर्भर करता है। आमतौर पर उपचार में एच.पाइलोरी जीवाणु को मारना, यदि संभव हो तो एनएसएआईडी के उपयोग को समाप्त करना या कम करना, और आपके अल्सर को दवा से ठीक करने में मदद करना शामिल होता है।

अल्सर के लिए मेडिसिन Medicine for ulcer

अल्सर की दवा – निम्न दिए गए दवाओं को अलसर के इलाज के लिए किये जाते हैं।

Antibiotic medications to kill H. pylori

यदि आपके पाचन तंत्र में एच। पाइलोरी पाया जाता है, तो आपका डॉक्टर जीवाणु को मारने के लिए एंटीबायोटिक दवाओं के संयोजन की सिफारिश कर सकता है। इनमें शामिल हो सकते हैं amoxicillin (Amoxil), clarithromycin (Biaxin), metronidazole (Flagyl), tinidazole (Tindamax), tetracycline and levofloxacin.

Medications that block acid production and promote healing

प्रोटॉन पंप अवरोधक – जिसे पीपीआई भी कहा जाता है – एसिड का उत्पादन करने वाली कोशिकाओं के भागों की कार्रवाई को रोककर पेट के एसिड को कम करता है। इन दवाओं में प्रिस्क्रिप्शन और ओवर-द-काउंटर दवाएं शामिल हैं omeprazole (Prilosec), lansoprazole (Prevacid), rabeprazole (Aciphex), esomeprazole (Nexium) and pantoprazole (Protonix)

Medications to reduce acid production

एसिड ब्लॉकर्स – जिसे हिस्टामाइन (H-2) ब्लॉकर्स भी कहा जाता है – आपके पाचन तंत्र में जारी एसिड की मात्रा को कम करता है, जो अल्सर के दर्द से राहत देता है और हीलिंग को प्रोत्साहित करता है। डॉक्टर के पर्चे या काउंटर पर उपलब्ध, एसिड ब्लॉकर्स में दवाएं फैमटिडाइन (पेप्सिड एसी), सिमेटिडाइन (टैगामेट एचबी) और निज़टिडाइन (एक्सिड एआर) शामिल हैं।

Antacids that neutralize stomach acid

आपका डॉक्टर आपके ड्रग रेजिमेन में एक एंटासिड शामिल कर सकता है। एंटासिड मौजूदा पेट एसिड को बेअसर करता है और तेजी से दर्द से राहत प्रदान कर सकता है। साइड इफेक्ट्स में मुख्य सामग्री के आधार पर कब्ज या दस्त शामिल हो सकते हैं।

Medications that protect the lining of your stomach and small intestine

कुछ मामलों में, आपका डॉक्टर साइटोप्रोटेक्टिव एजेंटों नामक दवाओं को लिख सकता है जो आपके पेट और छोटी आंत को लाइन करने वाले ऊतकों की रक्षा करने में मदद करते हैं।

अल्सर में क्या खाना चाहिए foods to eat when you have an ulcer

दही, मिसो, किमची, सौकरकूट, कोम्बुचा, और टेम्पेह जैसे खाद्य पदार्थ प्रोबायोटिक्स नामक “अच्छे” बैक्टीरिया से भरपूर होते हैं। वे एच। पाइलोरी संक्रमण से लड़कर या उपचार को बेहतर तरीके से काम करके अल्सर की मदद कर सकते हैं। सेब, नाशपाती, दलिया, और अन्य खाद्य पदार्थ जो फाइबर में उच्च हैं, अल्सर के लिए अच्छे हैं। ब्लोटिंग और दर्द को कम करते हुए फाइबर आपके पेट में एसिड की मात्रा को कम कर सकता है। शोध से यह भी पता चला है कि फाइबर से भरपूर आहार अल्सर को रोकने में मदद कर सकता है।

शकरकंद – यह विटामिन ए में उच्च है, और इस बात के प्रमाण हैं कि यह पोषक तत्व पेट के अल्सर को कम करने में मदद कर सकते हैं और उन्हें रोकने में भी भूमिका निभा सकते हैं। विटामिन ए की अच्छी खुराक वाले अन्य खाद्य पदार्थों में पालक, गाजर, कैंटालूप, और बीफ़ जिगर शामिल हैं। रेड बेल पेपर – यह विटामिन सी से भरपूर है, जो आपको कई तरह से अल्सर से बचाने में मदद कर सकता है। एक के लिए, घाव भरने में विटामिन सी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जो लोग पर्याप्त नहीं हैं उन्हें भी अल्सर होने की अधिक संभावना है। खट्टे फल, स्ट्रॉबेरी, कीवी, और ब्रोकोली में भी इस पोषक तत्व को प्राप्त करें।

अल्सर के लिए योग Yoga for ulcer

योग पाचन संबंधी बीमारियों जैसे अल्सर, कोलाइटिस, कब्ज, दस्त और अन्य को ठीक करने का सबसे अच्छा तरीका है। बहुत सी बीमारियाँ जो पेट की ख़राबी से उत्पन्न होती हैं, बड़ी हो जाती हैं और रक्तचाप, हृदय रोगों और अन्य जैसी गंभीर समस्याओं में बदल जाती हैं।

अल्सर के घरेलु उपाय Home Remedy for Ulcer

  1. कच्चे केले: इनमें ल्यूकोसाइनाइडिन नामक फ्लेवोनोइड होता है, जो पेट के अंदर बलगम बनाने में मदद करता है।
  2. फल: नींबू, नारंगी, सेब, चेरी, ब्लूबेरी फ्लेवोनॉयड्स से भरपूर होते हैं, और पेट के अल्सर के लिए एक प्रभावी अतिरिक्त उपचार है।
  3. पत्तागोभी का रस: पत्तागोभी विटामिन सी से भरपूर होता है। कहा जाता है कि दवाओं के आने से पहले गोभी का इस्तेमाल अल्सर से राहत पाने के लिए किया जाता था।
  4. शहद: यह एक एंटीऑक्सिडेंट युक्त खाद्य पदार्थ है और इसके जीवाणुरोधी गुण एच पाइलोरी विकास से लड़ने में मदद कर सकते हैं।
  5. प्रोबायोटिक्स: छाछ, दही, किमची और केफिर पेप्टिक अल्सर को रोकने में मदद करते हैं।
  6. हल्दी: हल्दी का सेवन सूजन को कम करने में मदद करता है और आंत की परत को मजबूत करता है।
  7. अदरक: Zinger अद्रक ’गैस्ट्रिक बीमारियों में फायदेमंद है और पाचन तंत्र के माध्यम से भोजन की गति को आसान बनाने में भी मदद करता है।
  8. व्हाइट ओक बार्क: यह आंतों के अस्तर को मजबूत करता है और संक्रमण से लड़ता है।
  9. मार्शमैलो रूट: यह आंत में श्लैष्मिक ऊतक को सूजन से राहत देता है।

अल्सर का होम्योपैथिक इलाज Homeopathy Treatment for Ulcer

होम्योपैथी पेट के अल्सर के लिए एक बहुत ही सुरक्षित और प्रभावी उपचार प्रदान करता है। पेट के अल्सर के लिए होम्योपैथिक दवाएं मुख्य रूप से तीव्र चरण में पेट के अल्सर के लक्षणों की आवृत्ति और गंभीरता को कम करने में मदद करती हैं। पेट के अल्सर के लिए होम्योपैथिक दवाओं को अलग-अलग लक्षणों के अनुसार चुना जाता है जो व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न होते हैं। अर्जेन्टम नाइट्रिकम, नक्स वोमिका, काली बिचरोमिकम, लाइकोपोडियम, कार्बो वेज, हाइड्रैस्टिस, फॉस्फोरस और ग्रेफाइट्स पेट के अल्सर के लिए शीर्ष उपचार हैं।

अल्सर का आयुर्वेदिक इलाज Ayurveda Treatment for ulcer

अल्सर और एक संबंधित अतिसक्रियता नैदानिक आयुर्वेदिक विशेषज्ञ के प्रबंधन के लिए अपेक्षाकृत आसान स्थितियां हैं। सही जड़ी-बूटियों के साथ उचित जीवन शैली और आहार के माध्यम से, पीड़ा कम होती है और उपचार होता है।

Conclusion

उम्मीद है आपको इस आर्टिकल से जानकारी प्राप्त हुयी होगी के अल्सर क्या है, अल्सर कैसे होता है, अल्सर ट्रीटमेंट के उपाय, अल्सर से बचने के लिए कौनसे खाना खाने होंगे, अल्सर के लक्षण, अल्सर के उपचार