WebSeoScout

Information Stream in Hindi

How to become hacker
Spread the love

आप हैकर बनना चाहते हैं परन्तु नहीं जानते हैं कैसे बने ? तो ये आर्टिकल आपके लिए हैं। इसमें जानेंगे कैसे हैकिंग सीखें , हैकिंग के प्रकार, हैकिंग किसे कहते हैं, एथिकल हैकिंग क्या है और हैकिंग करियर का भविस्य।

हैकर कैसे बनते हैं ? How to become a hacker in Hindi?

हैकर कैसे बने जानने से पहले चलिए समझ लेते हैं ये हैकिंग क्या है ?

हैकिंग की परिभाषा (Definition of Hacking): किसी भी कंप्यूटर या फिर कंप्यूटर समूह में स्थित डिजिटल डाटा को अनिधिकृत तरीके से हासिल करने की तरीके को हैकिंग कहा जाता है। ये डिटिजल डाटा को हासिल करने के लिए तरह तरह के पहले से मौजूद कंप्यूटर प्रोग्राम या फिर खुद के बनाये हुए कंप्यूटर प्रोग्राम की मदद ली जाती है।

हैकर कौन हैं ?

क्या हैकिंग गैर कानूनी है ?

सम्पूर्ण रूप से नहीं। लग भग सभी कंपनी जो डिजिटल डाटा अपने सर्वर पर रखे हुए हैं उनको हैकर्स की मदद लेनी पड़ती है ताकि वो सारे दरवाजे बंद कर सकें जिसके जरिये दूसरे हैकर डाटा चोरी कर सकें।

हैकिंग क्या है? What is hacking?

अनुमति के बिना डिजिटल फ़ाइलों या सिस्टम तक पहुंच प्राप्त करना, आमतौर पर मन में एक नापाक इरादे के साथ जैसे कि जानकारी चोरी करना या मैलवेयर इंस्टॉल करने की प्रक्रिया को ही हैकिंग कहते हैं।

हैकिंग के प्रकार Types of Hacking

  1. Social Engineering and Phishing इस प्रकार के हैकिंग में हैकर्स सोशल मीडिया साइट और ईमेल साइट के हूबहू नक़ल तैयार करते हैं और किसी प्रकार से अपने शिकार को उस बनायीं हुयी वेबसाइट को खोल कर लॉगिन करने के लिए प्रेरित करते हैं और जैसे ही शिकार लॉगिन करते हैं हैकर के पास उनका पासवर्ड पहुँच जाता है।
  2. Password Cracking हैकर के पास ऐसे कई सॉफ्टवेयर हैं जो दिन रात चलते रहते हैं ताकि दूसरों का पासवर्ड हासिल कर सके। इसलिए सलाह दी जाती है के हर ४५ दिन या ६० दिन में पासवर्ड बदलते रहे।
  3. Injecting Malwares आज के तारीख में सोने जैसे महंगा है यूजर डाटा। हैकर लोग कंप्यूटर सिस्टम के अंदर चालाकी से मैलवेयर इंजेक्ट कर देते हैं और ये कंप्यूटर वायरस यूजर डाटा चुराने के काम आता है।
  4. Injecting Adwares एडवेयर भी एक प्रकार का कंप्यूटर वायरस है जो अपने शिकार के कंप्यूटर सिस्टम पर लगातार एडवर्टटाइजमेन्ट दिखता रहता है और हैकर की कमाई होती रहती है।
  5. Distributed denial of service हर एक वेबसाइट कुछ सिमित संख्यक विजिटर को हैंडल करने के लिए सक्षम रहते हैं। हैकर अपने शिकार वाली वेबसाइट पर कंप्यूटर प्रोग्राम के जरिये ट्रैफिक भेज कर वेबसाइट को क्रैश करा देते हैं।

हैकर के प्रकार Types of Hacker

  1. Black Hat Hacker – ये उस श्रेणी के हैकर होते हैं जो दूसरे वेबसाइट से बगैर अनुमति डाटा चुराने के मकसद से या फिर अपने शिकार के कंप्यूटर सिस्टम को नुक्सान पहुँचाने के मकसद से हैकिंग करते हैं।
  2. White Hat Hacker – ये उस  श्रेणी के हैकर होते हैं जो दूसरे वेबसाइट या कंप्यूटर सिस्टम पर जरुरी अनुमति के साथ हैकिंग करते हैं। ये जिस कंपनी की सिस्टम पर हैकिंग करते हैं उस कंपनी की दी हुयी सारी गाइड लाइन का पालन करते हैं। इस प्रकार के हैकिंग को एथिकल हैकिंग भी कहा जाता है।
  3. Gray Hat Hacker – ये उस श्रेणी के हैकर होते हैं जो अन्य कंप्यूटर सिस्टम या सर्वर होते हैं उनमे मौजूद नुक्सान दायक हैकिंग के अवसर को तलासते हैं और उस कंपनी को सूचित करते हैं। बदले में कंपनी अछि खशी धन राशि प्रदान करती है।

साइबर हैकिंग क्या है? What is cyber hacking?

सीधे शब्दों में कहें, एक Cyber Hacking एक कंप्यूटर,  या फिर एक से अधिक कंप्यूटर या नेटवर्क के खिलाफ एक या अधिक कंप्यूटरों से लॉन्च किया गया हमला है। साइबर हमलों को दो व्यापक प्रकारों में विभाजित किया जा सकता है: ऐसे हमले जहां लक्ष्य कंप्यूटर को अक्षम करना है या इसे ऑफ़लाइन कर देना है, या लक्ष्य कंप्यूटर के डेटा तक पहुंच प्राप्त करना और administrative power  प्राप्त करना है।

एथिकल हैकिंग क्या है ? What is Ethical Hacking?

इस प्रकार के हैकिंग में हैकर एक सिस्टम या सर्वर के अंदर मौजूद उन तमाम कमजोर कड़ियों की निगरानी करते हैं जिसकी वजह से दूसरे हैकर नुक्सान पहुंचा सके। एथिकल हैकिंग की डिमांड दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। और एथिकल हैकर्स अछि कमाई भी करते है।

हैकिंग कैसे सीखे ? How to learn Hacking?

  1. Online course – यूट्यूब, Udemy जैसे प्लेटफार्म पर तरह तरह के हैकिंग कोर्स कम दामों में उपलब्ध है। ऑनलाइन कोर्स कर भी आप हैकिंग सिख सकते हैं।
  2. Coaching centre – सेहेरो में बहुत सारे नामचीन कोचिंग सेंटर हैं जहाँ से हैकिंग कोर्स किया जा सकते है।
  3. Certification – बहुत सारे ऑनलाइन सर्टिफिकेशन एग्जाम होते हैं जो हैकिंग सर्टिफाइड सर्टिफिकेट देते हैं। इन सर्टिफिकेट की कीमत कम्पनयों के नजर में बहुत अच्छा है।
  4. Working as intern – अगर आपको हैकिंग के बेसिक्स मालूम हैं तो आप किसी कंपनी में इंटर्न के तौर पर काम कर इंडस्ट्री में इस्तेमाल होने वाले एडवांस्ड और जटिल हैकिंग सैली को सिख सकते हैं।
  5. Books – बहुत सारे प्रोफेशनल हैकर्स ने हैकिंग के ऊपर कई किताबें लिखी हैं। उनके किताब पढ़ कर भी हैकिंग सीखा जा सकता है।

हैकिंग कोर्स फीस

हैकिंग की कोर्स भी १०००० रूपए से लेकर ५ से १० लाख के बीच है। इन कोर्स की कीमत जितना ज्यादा है उतना ज्यादा फायदे हैं।

सबसे बड़ा हैकर कौन है?

Kevin David Mitnick आज तक के सब से बड़े हैकर माने जाते हैं। अपनी हैकिंग की कला की वजह से वो जेल भी जा चुके हैं।

हैकर की सैलरी

एक हैकर की सैलरी उनके अनुभव और जिम्मेदारी के ऊपर निर्भर करता है। आम तौर पर सालाना १५ लाख से लेकर ४० लाख तक का पैकेज मिलता है।

हैकर बनने के लिए आवश्यक कौशल Required Skills to Become Hacker

  1. Server Architecture Knowledge – सर्वर की आर्किटेक्चर  समझ अहम् है हैकर बनने के लिए। सर्वर काम करता कैसे है और कहाँ कहाँ कमजोर कड़ियाँ है।
  2. Computer Programming Language – पाइथन, जावा, C प्रोग्रामिंग, .नेट जैसे कंप्यूटर प्रोग्राम का ज्ञान होना आवश्यक है।
  3. Server Security Architecture – हर साल हर कंपनी अपने सर्वर को मौजूदा हैकिंग टेक्निक्स से बचाने के लिए सर्वर सिक्योरिटी में फेर बदल करती रहती है। इन तमाम सर्वर सिक्योरिटी आर्किटेक्चर को समझना होगा।
  4. Latest Hacking Tools – अगर एक हैकर मैन्युअल तरीके से हैकिंग करने जाते तो सदियों लग सकते हैं। समय बचने के लिए फ्री और पेड हैकिंग टूल मार्किट में उपलब्ध हैं। इन टूल्स की मदद से हैकिंग और एंटी हैकिंग दोनों किया जाता है।

Conlusion

उम्मीद है इस आर्टिकल से आपको समझ में आगया होगा के हैकिंग क्या है, हैकिंग कैसे सीखें, हैकिंग के प्रकार, हैकर के प्रकार